Business

Technology

प्‍यार की उम्र दिल नहीं हार्मोन तय करता

अगर आप यह सोचते हैं कि प्‍यार की उम्र दिल से तय होता है तो आप गलत है क्‍योंकि शोधकर्ताओं का कहना है कि इसके लिए लव हार्मोन जिम्‍मेदार है।

  इसराइल के बार-इलान विश्वविद्यालय के अनुसंधानकर्ताओं का कहना है कि आपका  प्यार कितने दिनों तक चलने वाला है, "लव हार्मोन"  हार्मोन बताएगा। अर्थात रक्त में ऑक्सीटॉक्सी अर्थात "लव हार्मोन"के स्तर की जांच बता चलेगा कि आपका प्यार कितने दिनों तक चलेगा।

शोधकर्ताओं का कहना है कि जिन जोडों के रक्त में ऑक्सीटॉक्सीन की मात्रा ज्यादा होती है उनके रिश्ते ज्यादा लंबे चलते हैं और जिनके रक्त में इस हार्मोन की मात्रा कम होती है उनका रिश्ता कम दिनों तक चलता है।

लाइव साइंस की रिपोर्ट के अनुसार, अपने अनुसंधान के लिए दल ने ऎसे जोडों के रक्त में ऑक्सीटॉक्सीन की मात्रा की जांच की जिनके रिश्ते तुरंत शुरू हुए थे। छह माह के बाद उन्होंने सभी जोडों के रक्त में ऑक्सीटॉक्सीन की मात्रा की दोबारा जांच की।  

उन्होंने पाया कि जिनके रक्त में ऑक्सीटॉक्सीन की मात्रा ज्यादा है वे अब भी अपने रिश्ते को बनाए रखने के इच्छुक हैं। जिनके रक्त में इस हार्मोन की मात्रा कम हो गई है उनके रिश्ते टूटने की कगार पर थे।
साभार:दैनिक  भास्कर
प्‍यार की उम्र दिल नहीं हार्मोन तय करता प्‍यार की उम्र दिल नहीं हार्मोन तय करता Reviewed by NARESH THAKUR on Thursday, March 08, 2012 Rating: 5

No comments:

blogger.com