Business

Technology

ATM का इस्तेमाल करते हैं तो चोरों से बचने के लिए रखें 12 बातों का खयाल


1. बहुत से चोर एटीएम कार्ड को मशीन में फंसाने के लिए एटीएम कार्ड स्लॉट में कार्ड ट्रैप करने वाली डिवाइस को ग्लू या और किसी चीज से चिपका देते हैं। इसका परिणाम यह होता है कि जैसे ही आप मशीन में कार्ड डालते हैं वह अंदर फंस जाती है। उसके बाद आप पिन इंटर करते हैं तो आस-पास से वह चोर देख रहा होता है। जैसे ही आप एटीएम से निकल कर फंसे हुए कार्ड के बारे में बैंक में रिपोर्ट करने के लिए जाते हैं, इधर वह एटीएम कार्ड से पैसे निकाल लेता है। ऐसा भी हो सकता है कि अंदर खड़ा वह चोर आपसे मदद देने के बहाने बार-बार पिन इंटर करने को कहे ताकि जब आप ऐसा करें तो वह आपका पिन याद कर ले।
2. कार्ड स्कीमिंग। एटीएम मशीन में कार्ड स्लॉट के ऊपर-नीचे या इर्द गिर्द कहीं कार्ड स्कीमर्स लगा दी जाती है जिसमें लिखा होता है कि यहां कार्ड इंटर करें। उसके जरिए कार्ड के सारे इंफोर्मेशन जैसे अकाउंट नंबर, बैलेंस और पिन नंबर उसमें ले लिए जाते हैं। बाद में कार्ड चोर उस स्कीमर्स को हटाकर सभी जानकारियों को जमा कर लेते हैं और उसी तरह का डुप्लीकेट कार्ड बना लेते हैं।
3. एटीएम एरिया के अंदर कहीं वायरलेस कैमरा लगा दिया जाता है। इस कैमरे से एटीएम नंबर पता लगाने के अलावा चोरों ने एक ऐसा एटीएम पैड बनाया है जिसे असली पैड के ऊपर फिट कर दिया जाता है। इससे चोरों को पिन का पता लग जाता है।
4. जिस तरह से कार्ड को ट्रैप किया जाता है, उसी तरह से पैसे को फंसाने के लिए कैश डिस्पेंसर के अंदर एक डिवाइस लगा दिया जाता है। ट्रांसैक्शन तो हो जाता है लेकिन कैश बाहर निकल कर नहीं आता। आप बाहर निकलकर जैसे ही जाएंगे, वैसे ही कैश लेकर चोर चंपत हो जाता है।
5. फिशिंग- ईमेल फिशिंग में एटीएम कार्ड होल्डर के पास एक मेल भेजा जाता है जिसमें यह लिखा होता है कि बैंक में कस्टमर से जुड़ी जानकारी अधूरी है, जिसे पूरा करने के लिए एक लिंक दिया जाता है। कस्टमर जैसे ही उस लिंक के जरिए फेक वेबसाइट पर अपनी जानकारियां और पिन नंबर एंटर करता है,सारे इंफॉर्मेशन्स चुराकर ऑनलाइन बैंकिंग के जरिए चोर पैसा निकाल लेते हैं।
बचने के उपाय-
 6.संभव हो तो अपने शहर में एक ही एटीएम से बार-बार पैसे निकालें। उस जगह से परिचित हो जाएं और कोई भी बदलाव नजर आए तो उसे पकड़ लें।
7.अगर संभव हो तो बैंक के अंदर वाली एटीएम का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करें। गलियों के एटीएम पर चोरों की नजर ज्यादा रहती है।
8.ट्रैपिंग डिवाइस को अक्सर ग्लू की मदद से चिपकाया जाता है। गौर करें कि कहीं कोई ऐसी चीज तो कैश डिस्पेंसर या कार्ड स्लॉट के इर्द गिर्द नहीं लगी। एक्सट्रा कैमरा पर भी गौर करें।
9.कभी किसी अजनबी से मदद न लें।
10.अगर कार्ड या कैश फंस जाए तो एटीएम से बाहर न निकलें। वहीं से सेलफोन से बैंक को कॉल करें
11.अगर किसी मशीन पर कोई वार्निंग लगी हो तो उसका इस्तेमाल न करें।
12.अगर बैंक की तरफ कोई मेल आए तो सावधान रहें। बैंक के वेबसाइट पर जाकर सीधे अपडेट के बारे में पता करें। मेल पर आए लिंक को तभी फौलो करें जब आपको यकीन हो जाए कि यह बैंक की ही साइट है।
source:bhaskar

ATM का इस्तेमाल करते हैं तो चोरों से बचने के लिए रखें 12 बातों का खयाल ATM का इस्तेमाल करते हैं  तो चोरों से बचने के लिए रखें 12 बातों का खयाल Reviewed by NARESH THAKUR on Sunday, September 02, 2012 Rating: 5

2 comments:

  1. सार्थक और जरुरी पोस्ट

    ReplyDelete
  2. एक से लेकर चार तक वाले फ्रॉड तो तभी संभव हैं जब चोर ने ही एटीएम खोल रखा हो या फिर बैंक एटीएम खोल कर भूल गया हो... ;)

    ReplyDelete

blogger.com