Business

Technology

मूंछों और दाढ़ी से बेहद प्यार

एक शोध के अनुसार क्लीन शेव यानी बिना दाढ़ी-मूंछ वाले पुरुषों का ज्यादा आकर्षक और स्मार्ट समझा जाता है। दाढ़ी-मूंछ रखने से पुरुषों की उम्र भी ज्यादा लगती है और उनके स्वभाव में भी आक्रामकता झलकती है। लेकिन यहां उन पुरुषों के लिए अच्छी खबर है जिन्हें अपनी मूंछों और दाढ़ी से बेहद प्यार है। 
वैज्ञानिक रूप से दिए जाने वाले तर्कों को देखें तो कहा जाता है कि त्वचा को धूप से बचाने के लिए दाढ़ी-मूंछ रखी जाती है। ये भी कहा जाता है कि दाढ़ी होना स्वस्थ इम्यून सिस्टम को दर्शाता है। थ्योरी ये है कि बीमारी लाने वाले परजीवी शरीर के बालों में पैदा होते हैं। 
इस आधार पर ये माना जा सकता है कि अगर बिना बीमार हुए कोई पुरुष दाढ़ी रख लेता है तो वो काफी स्वस्थ है। आमतौर पर देखा जाए तो महिलाएं अक्सर ताकतवर और स्वस्थ पुरुषों की तरफ आकर्षित होती है। लेकिन पुरानी रिसर्च के अनुसार ये सामने आया कि दाढ़ी वाले पुरुषों को अधिकतर महिलाएं पसंद नहीं करती। 

इस तरह के मिले जुले परिणामों को देखकर न्यूजीलैंड और कनाडा के वैज्ञानिकों ने एक नई रिसर्च करने का सोचा। उन्होंने दाढ़ी-मूंछ वाले 19 पुरुषों को शोध में शामिल किया। इसके बाद उनकी तसवीरें ली गईं। इसके बाद दाढ़ी-मूंछ कटवाकर दोबारा फोटोग्राफ ली गई। 
दोनों तरह की तसवीरें 200 महिलाओं को दिखाई गईं और उन्हें हर फोटो को अंक देने के लिए कहा गया। महिलाओं ने क्लीन शेव वाले लुक को ज्यादा आकर्षक माना। जबकि जब दूसरे पुरुषों से इस बारे में पूछा गया है। तो सामने आया कि दाढ़ी-मूंछों वाले पुरुषों का सामाजिक रुतबा ज्यादा होता है और उन्हें दूसरे पुरुषों से अधिक सम्मान मिलता है। 
नतीजे बताते हैं कि दाढ़ी-मूंछ दूसरे पुरुषों के लिए पुरुषत्व का प्रमाण है जबकि महिलाएं ऐसा नहीं सोचती। संक्षेुप में कहा जाए तो बेशक पुरुषों के पुरुषत्व के लिए दाढ़ी-मूंछ रखना जरूरी हो, लेकिन जब स्मार्टनेस की बात आती है तो महिलाओं को पुरुषों की दाढ़ी बिल्कुल रास नहीं आती।



साभार:अमर उजाला
मूंछों और दाढ़ी से बेहद प्यार मूंछों और दाढ़ी से बेहद प्यार Reviewed by NARESH THAKUR on Thursday, April 05, 2012 Rating: 5

No comments:

blogger.com